छात्रवृति घोटाले में तत्कालीन समाज कल्याण अधिकारी गिरफतार


हरिद्वार।
करोड$ों रुपए के छात्रवृत्ति घोटाले में चल रही एसआईटी जांच भी निरंतर आरोपियों के गिरेबान तक पहुंच रही है। कई गिरफ्तारियां भी इस घोटाले में अभी तक हो चुकी हैं। इसी क्रम में गुरुवार को एसआईटी के अध्यक्ष मंजूनाथ टीसी के निर्देशन पर चल रही जांच में हरिद्वार समाज कल्याण विभाग के पूर्व अधिकारी मुनीष कुमार त्यागी(63) को गिरफ्तार किया गया है।
घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने वर्ष 2012—13 एवं 13—14 शैक्षणिक संस्थान मानव भारती विश्वविद्यालय सोलन हिमाचल प्रदेश में दिखाए गए छात्रों के नाम पर साढे तीन करोड रूपये की स्कलरशिप घोटाले में तत्कालीन समाज कल्याण अधिकारी मनीष कुमार त्यागी पुत्र संगता सिंह निवासी मौहल्ला विनीत नगर गली नंबर— 3 निकट महिपाल की कोठी पनियाला रोड रुडकी को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में पूर्व समाज कल्याण अधिकारी अनुराग शंखधर को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। एसआईटी द्वारा जारी सूचना में बताया गया कि समाज कल्याण विभाग के दस्तावेजों के अनुसार साढे तीन करोड रूपये मानव भारती विश्वविद्यालय सोलन हिमाचल प्रदेश के बैंक खातों में दिया जाना दिखाया गया। जबकि विश्वविद्यालय की आेर से इससे इनकार किया गया। जांच में जब बैंक खातों की डिटेल निकाली तो यह धनराशि सुभाष पुत्र बाबूराम निवासी ग्राम पनियाला रुडकी जिला हरिद्वार, किरण देवी पत्नी सुभाष निवासी ग्राम पनियाला रुडकी— संचालक किरण इंस्टिट्यूट आफ मैनेजमेंट एंड टेक नोलाजी, राहुल विश्नोई पुत्र केके विश्नोई निवासी मनीराम रोड ऋषिकेश देहरादून संचालक मानव भारती विश्वविद्यालय एंड पावर अकेडमी रानीपुर मोड हरिद्वार, प्रकाश नारायण निवासी— 166 आवास विकास थाना गंग नहर रुडकी के खाते में गई। शैक्षणिकसंस्थानों की मानव भारती विश्वविद्यालय सोलन हिमाचल प्रदेश से मान्यता संबद्धता फर्जी पाए जाने व संस्थान धरातल पर नहीं पाए गए। जिसके चलते इस मामले में चार्जशीट भी दाखिल की गई। इस मामले में आरोपी मुनिष क ी तलाश थी जिसे गुरूवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इस संबंध में जांच निरीक्षक योगेश देव रहे।

SHARE ON:

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: