सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन

हम तो लिखेंगे और आप पड़ेगे

उत्तराखण्ड हरिद्वार

रोक के बावजूद बाजार में बिक रहा चाइनीज मांझा, हरिद्वार विकास समिति के पदाधिकारियों ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर की पूर्ण रूप से रोक लगाने की मांग

January 21, 2020

हरिद्वार । हरिद्वार विकास समिति के अध्यक्ष रवि बाबू शर्मा व पदाधिकारियों ने शहर में प्रशासनिक रोक के बावजूद बिक रहे चाईनीज मांझे की बिक्री पूर्ण रूप से बंद करने मांग करने की मांग की। पदाधिकारियों ने इस संबंध में सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन भी दिया। अध्यक्ष रवि बाबू शर्मा ने कहा कि रोक के बावजूद गुपचुप तरीके से चाईनीज मांझे की बिक्री की जा रही है। छोटे बच्चों के लिए यह मांझा बड़ा खतरा बन गया है। जबकि कई बार बच्चों के अलावा बड़े भी इस मांझे की चपेट में आकर गंभीर दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं। पंतग का मांझा पक्षियों के लिए भी खतरनाक सिद्ध हो रहा है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि गुपचुप तरीके से बिक रहे मांझे की रोकथाम के लिए विकास समिति छापेमारी अभियान में अपना सहयोग करना चाहती है। मांझे की बिक्री की शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। पुलिस के साथ समिति के पदाधिकारी छापेमारी अभियान में अपना सहयोग देना चाहते हैं। क्योंकि दुकानों पर अब भी रोक के बावजूद चाईनीज मांझे की बिक्री की जा रही है। सड़क पर चलने वाले राहगीरों के लिए यह मांझा खतरनाक सिद्ध हो रहा है। बसंत पंचमी नजदीक होने के चलते दुकानदार मांझे का स्टाॅक रख रहे हैं। चाईनीज मांझा सस्ते की वजह से भी अधिक बिक रहा है। बाहर से सप्लाई होने वाली मांझे की खेप को तुरंत टीमे बनाकर रोका जाए। जिससे मांझा दुकानों पर बिक्री के लिए उपलब्ध ही ना हो। संदीप कुमार व सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जनपद भर में चाईनीज मांझे के कारण कई लोग घायल हो चुके हैं। चाईनीज मांझा चाकू छुरी जैसा तेज है। वाहनों पर चलने वाले चालकों को घायल कर देता है। जानवर व पक्षी भी इसकी चपेट में आकर चोटिल हो रहे हैं। बसंत पंचमी नजदीक है। पंतग व्यवसायी बाहर से आने वाले इस मांझे का स्टाॅक जमा कर रहे हैं। छोटे बच्चे अज्ञानता में इस मांझे का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने अभिभावकों से भी अपील की कि इस मांझे को ना खरीदें। बच्चों को इस मांझे से दूर रखें। ज्ञापन सौंपने वालों में विमल शर्मा, आदित्य झा, रजत झा, गौरव भाटिया, राघव मित्तल, हिमांशु शर्मा, अमन गर्ग, मोहित, दीपू, वकील आदि शामिल रहे।

SHARE ON:

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: