कुम्भ कार्य अधूरे या पूरे, 14 मार्च को मुआयना करवाएंगे मेलाधिकारी हाईकोर्ट की संयुक्त टीम को

शुक्रवार को उत्तराखंड हाई कोर्ट नेनीताल मैं कुंभ मेले को लेकर सुनवाई हुई जिसमें बताया गया कि उत्तराखंड सचिव और कुंभ मेला अधिकारी की ओर से जो फाइल की गई वह जमीनी हकीकत से कोसों दूर है मेले से संबंधित सभी काम अधूरे पड़े हैं हर की पौड़ी जाने का मुख्य मार्ग टूटा पड़ा है इसके अलावा और भी बहुत सारे मार्ग टूटे पड़े हैं घाट पर घाटों पर भी पूरा काम नहीं हुआ है टॉयलेट की हालत खस्ता है पूरे लगे नहीं है

एडवोकेट ने बताया कि कोर्ट में संयुक्त निरीक्षण की मांग की गई जिसमें मेला अधिकारी को निर्देश दिया गया है कि 14 मार्च को मेला अधिकारी जिला जज चीफ स्टैंडिंग काउंसिल सारे सिविल वर्क्स और घाटों का निरीक्षण करेंगे और अपने रिपोर्ट 23 मार्च तक फाइल करेंगे 24 मार्च को अगली तारीख दी गई है साथिया निर्देश भी दिया गया है कि 11 मार्च 2021 को महाशिवरात्रि के पर्व पर s.o.p. जारी है वह लागू होगी हर निर्देश लागू रहेगा जो भी केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने दिए हैं 9 मार्च से 11 मार्च तक लागू रहेंगे इसके अलावा 12 अप्रैल और 14 अप्रैल को दो शाही स्नान है उसके लिए न्यायालय ने अधिक से अधिक व्यवस्थाएं करने की बात कही है,

कहा की 12 तारीख को स्नान करने आने वाले श्रद्धालु 14 तारीख तक रुक सकते हैं उनकी संख्या बढ़ सकती है एक करोड़ से ऊपर भी जा सकती है इसके लिए राज्य सरकार को आदेश दिया गया है की, पूरी तैयारी की जाए और अपनी रिपोर्ट दी जाए इसके अलावा मेला प्रशासन की ओर से न्यायालय को बताया गया कि दूधाधारी आश्रम में 500 बेड का अस्पताल जोकि कुम्भ मेला में आने वाले यात्रियों के लिए पर्याप्त होगा।

SHARE ON:

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: